चर्चा

Friday, August 23, 2019

नशे को जड से खत्म करेगी पुलिस: मुकेश सिंह जनता से तालमेल बढाने के लिए काम कर ही पुलिस किसी भी हालात से निपटने के लिए तैयार है पुलिस जम्मू 1996 बैच के आईपीएस मुकेश सिंह ने इसी माह बतौर आईजीपी जम्मू का कार्यभार संभाला है। कुर्सी पर बैठते ही उन्होंने समाज को नशामुक्त करने पर काम शुरु कर दिया है। जिसके लिए संभाग के सभी जिलों के पुलिस मुखिया को हिदायत दी गई है। उन्हें कहा गया है कि नशे के कारोबार को जड से खत्म करने पर जोर दे। ताकि समाज को एक बेहतर भविष्य दिया जा सके। इससे पहले सिंह बतौर आईजीपी क्राइम तैनात थे। अपनी 23 वर्ष की नौकरी में सिंह एनआईए में लंबे समय तक अपनी सेवा दे चुके है। एनआईए में रहते हुए उन्होंने कई बडे हमलों के मामलों की जांच की है। जिन्हें सुलझाया गया। अब उनकी काबिलयत को देखते हुए जम्मू संभाग की कमान सौंपी गई है। सिंह राज्य में कई अहम जगहों पर तैनात रह चुके है। बतौर एसएसपी जम्मू उन्होंने जिले के लिए काफी काम किए थे। जिन्हें कर्मचारी आज भी याद रखते है। उस समय कई ऐसे कार्यक्रम शुरु किए गए थे। जोकि आज भी थाना स्तर पर चलते है। इसके अलावा वह एसपी रियासी, पुलवामा, पुंछ भी रह चुके है। अईजी आमर्ड कश्मीर तैनात रहे। दो बार एनआईए में डेपोटेशन पर गए। उन्हें बहादुरी के लिए राष्ट्रपति पदकों से भी नवाजा जा चुका है। विशेष बातचीत में जब उनसे पूछा गया कि राज्य में मौजूदा हालात को देख्ते हुए पुलिस कितनी एलर्ट है। उनका कहना था कि इस समय हालात को देखते हुए पुलिस पूरी तरह से एलर्ट है। धारा 370 हटने के बाद कही पर कोई गडबडी की घटना नहीं हुई। बडे अफसरों से लेकर फील्ड में तैनात थानेदारों ने अपने काम को बेहतर तरीके से किया। जिससे की कानून व्यवस्था बनी रही। प्रश्र: अभी इंटरनेट बंद है, अगर खुलने के बाद कोई घटना होती है। उत्तर: पुलिस जमीनी स्तर पर काम करने में लगी हुई है। हर एक चीज की जांच की जा रही है। अगर कोई गल्त जानकारी फैलाता है। तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। कुछ दिन पहले इसी प्रकार की कार्रवाई की गई है। हर स्तर पर पुलिस कर्मचारी नजर बनाए हुए है। ताकि माहौल को खराब ना होने दिया जाए। प्रश्र: नशे को लेकर पुलिस की तरफ से क्या कदम उठाए गए है उत्तर: नशे के कारोबार को लेकर पुलिस की तरफ से कई बडे कदम उठाए गए है। मामलों की तह तक जांच की जा रही है। विशेष टीमों का गठन किया गय है। जोकि माल के बरामद होने के बाद दूसरे सिरे तक भी पहुंच रही है। कई मामलों में पुलिस के हाथ बडी कामयाबी लगी है। पुलिस ने अपने स्तर पर कई जगहों पर अपने लोगों को बिठाया हुआ है। जोकि ऐसे मामलों पर नजर बनाए हुए है। इससे भी हमे फायदा मिल रहा है। मौजूदा समय में संभाग में नशे के कारोबार को पूरी तरह से तोडने के लिए हर जिला स्तर पर अफसरों को आदेश दिए गए है। जोकि अपने जिले में इस पर कम कर रहे है। हर रोज कई मामले नशे को लेकर दर्ज किए जा रहे है। तस्करों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जा रहा है। प्रश्र: पुलिस तथा जनता के बीच तालमेल को बनाने के लिए क्या किया जा रहा है। उत्तर: पुलिस तथा जनता के बीच तालमेल है। उसे ओर पक्का करने के लिए हर थाना अपने स्तर पर काम करता है। थानों में बैठके की जाती है। बाहर गांव गांव में पब्लिक बैठके करके जनता से तालमेल को रखा गया है। इसके अलावा बडे अफसर भी इसी तरह से बैठकों में भाग लेकर लोगों के साथ मिलकर काम करते है। स्कूलों में पुलिस की तरफ से बैठके की जाती है। बच्चों की रैली निकाली जाती है। सिविक एक्शन प्रोग्राम के तहत कई कइदम उठाए गए है। जिससे की अब लोग थानों में बेफिक्र होकर आते है।

नशे को जड से खत्म करेगी पुलिस: मुकेश सिंह जनता से तालमेल बढाने के लिए काम कर ही पुलिस किसी भी हालात से निपटने के लिए तैयार है पुलिस जम्मू 1996 बैच के आईपीएस मुकेश सिंह ने इसी माह बतौर आईजीपी जम्मू का कार्यभार संभाला है। कुर्सी पर बैठते ही उन्होंने समाज को नशामुक्त करने पर काम शुरु कर दिया है। जिसके लिए संभाग के सभी जिलों के पुलिस मुखिया को हिदायत दी गई है। उन्हें कहा गया है कि नशे के कारोबार को जड से खत्म करने पर जोर दे। ताकि समाज को एक बेहतर भविष्य दिया जा सके। इससे पहले सिंह बतौर आईजीपी क्राइम तैनात थे। अपनी 23 वर्ष की नौकरी में सिंह एनआईए में लंबे समय तक अपनी सेवा दे चुके है। एनआईए में रहते हुए उन्होंने कई बडे हमलों के मामलों की जांच की है। जिन्हें सुलझाया गया। अब उनकी काबिलयत को देखते हुए जम्मू संभाग की कमान सौंपी गई है। सिंह राज्य में कई अहम जगहों पर तैनात रह चुके है। बतौर एसएसपी जम्मू उन्होंने जिले के लिए काफी काम किए थे। जिन्हें कर्मचारी आज भी याद रखते है। उस समय कई ऐसे कार्यक्रम शुरु किए गए थे। जोकि आज भी थाना स्तर पर चलते है। इसके अलावा वह एसपी रियासी, पुलवामा, पुंछ भी रह चुके है। अईजी आमर्ड कश्मीर तैनात रहे। दो बार एनआईए में डेपोटेशन पर गए। उन्हें बहादुरी के लिए राष्ट्रपति पदकों से भी नवाजा जा चुका है। विशेष बातचीत में जब उनसे पूछा गया कि राज्य में मौजूदा हालात को देख्ते हुए पुलिस कितनी एलर्ट है। उनका कहना था कि इस समय हालात को देखते हुए पुलिस पूरी तरह से एलर्ट है। धारा 370 हटने के बाद कही पर कोई गडबडी की घटना नहीं हुई। बडे अफसरों से लेकर फील्ड में तैनात थानेदारों ने अपने काम को बेहतर तरीके से किया। जिससे की कानून व्यवस्था बनी रही। प्रश्र: अभी इंटरनेट बंद है, अगर खुलने के बाद कोई घटना होती है। उत्तर: पुलिस जमीनी स्तर पर काम करने में लगी हुई है। हर एक चीज की जांच की जा रही है। अगर कोई गल्त जानकारी फैलाता है। तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। कुछ दिन पहले इसी प्रकार की कार्रवाई की गई है। हर स्तर पर पुलिस कर्मचारी नजर बनाए हुए है। ताकि माहौल को खराब ना होने दिया जाए। प्रश्र: नशे को लेकर पुलिस की तरफ से क्या कदम उठाए गए है उत्तर: नशे के कारोबार को लेकर पुलिस की तरफ से कई बडे कदम उठाए गए है। मामलों की तह तक जांच की जा रही है। विशेष टीमों का गठन किया गय है। जोकि माल के बरामद होने के बाद दूसरे सिरे तक भी पहुंच रही है। कई मामलों में पुलिस के हाथ बडी कामयाबी लगी है। पुलिस ने अपने स्तर पर कई जगहों पर अपने लोगों को बिठाया हुआ है। जोकि ऐसे मामलों पर नजर बनाए हुए है। इससे भी हमे फायदा मिल रहा है। मौजूदा समय में संभाग में नशे के कारोबार को पूरी तरह से तोडने के लिए हर जिला स्तर पर अफसरों को आदेश दिए गए है। जोकि अपने जिले में इस पर कम कर रहे है। हर रोज कई मामले नशे को लेकर दर्ज किए जा रहे है। तस्करों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जा रहा है। प्रश्र: पुलिस तथा जनता के बीच तालमेल को बनाने के लिए क्या किया जा रहा है। उत्तर: पुलिस तथा जनता के बीच तालमेल है। उसे ओर पक्का करने के लिए हर थाना अपने स्तर पर काम करता है। थानों में बैठके की जाती है। बाहर गांव गांव में पब्लिक बैठके करके जनता से तालमेल को रखा गया है। इसके अलावा बडे अफसर भी इसी तरह से बैठकों में भाग लेकर लोगों के साथ मिलकर काम करते है। स्कूलों में पुलिस की तरफ से बैठके की जाती है। बच्चों की रैली निकाली जाती है। सिविक एक्शन प्रोग्राम के तहत कई कइदम उठाए गए है। जिससे की अब लोग थानों में बेफिक्र होकर आते है।

Photo Gallery

Cricket Today

Weather Today