JammuKashmir

षिक्षक कैडर को और आगे बढ़ाने के लिए गैर-स्नातक आरआरईटी के परिवर्तन के लिए कार्य योजना - शिक्षक ग्रेड- 3 के 7643 पद सृजित Newsखबर. Dated: 7/12/2019 12:16:20 AM | No. of Hits 150



षिक्षक कैडर को और आगे बढ़ाने के लिए गैर-स्नातक आरआरईटी के परिवर्तन के लिए कार्य योजना - शिक्षक ग्रेड- 3 के 7643 पद सृजित
श्रीनगर, 11 जुलाई 2019-स्कूल शिक्षा विभाग में सर्व शिक्षा अभियान (एसएसए) (अब समग्र शिक्षा) के तहत गैर-स्नातक नियमितीकृत रहबर-ए-तालीम शिक्षकों (आआरईटी) के नियमित शिक्षक के रूप में परिवर्तन को को संबोधित करने के लिए राज्यपाल सत्य पाल मलिक की अध्यक्षता मंे राज्य प्रषासनिक परिशद (एसएसी) ने नामित समिति की सिफारिशों के आधार पर स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा प्रस्तावित एक्शन प्लान को मंजूरी दे दी है।
यह उल्लेखनीय है कि इससे पहले एसएससी ने अपने निर्णय दिनांक 07.12.2018 को रद्द कर, स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा आरआरईटी/आरईटी योजना के फौजदारी पर प्रस्तावित स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा प्रस्तावित कार्य योजना को मंजूरी दी थी और एक नियमित शिक्षण संवर्ग में कई स्कूलों को एक साथ लाया गया था। इस उद्देश्य के लिए गठित एक उच्च स्तरीय समिति की सिफारिशों का आधार पर स्कूल शिक्षा विभाग को ऐसे आरआरईटीएस को प्रोत्साहित करने के लिए निर्देशित किया गया था, जिनके पास एक विशिष्ट समय सीमा के भीतर समान अर्हता प्राप्त करने के लिए अपेक्षित योग्यता (स्नातक) नहीं है, ताकि उन्हें शिक्षक ग्रेड- 2 के रूप में उतारा जा सके। इसके अलावा, एसएसी ने उक्त समिति को स्नातक आरआरईटी के उन मामलों की जांच करने के लिए अधिकृत किया जो नियमित शिक्षक के रूप में अपनी नियुक्ति / परिवर्तन के लिए ग्रेजुएट ’के रूप में योग्यता के अधिकारी नहीं हैं।
उपरोक्त समिति की रिपोर्ट के आधार पर स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा प्रस्तावित कार्य योजना के एकमुश्त क्रियान्वयन के लिए, एसएसी ने शिक्षक ग्रेड- 2 के समतुल्य पदों के समतुल्य कमी के द्वारा शिक्षक का कैडर 25500-81100 रु (एल-4) के वेतनमान में शिक्षक ग्रेड- 3 के 7643 पदों के सृजन को मंजूरी दी है।
ग्रेड- 3 को विशेष रूप से गैर-स्नातक आरआरटीटी के परिवर्तन/ नियुक्ति के उद्देश्य से बनाया गया है। शिक्षक ग्रेड- 3 के कैडर को शिक्षक ग्रेड- 3 में नियुक्त या समिलित या बहाल कर दिया जाएगा, जब शिक्षक ग्रेड- 3 को शिक्षक ग्रेड- 2 के रूप में नियुक्त किया जाता है यदि आवश्यकता पड़ी तो इनमें से किसी भी पद को समाप्त कर दिया जाएगा।
जो स्नातक नहीं हैं, शिक्षक ग्रेड- 3 के पद आरआरटीटी से चयन करके 100 प्रतिषत भरे जाएंगे, अन्यथा निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार सरकारी सेवा में नियुक्ति के लिए पात्र हैं। इसमें सरकारी सेवा में नियुक्ति के लिए उनके चरित्र और पूर्ववृत्त, शैक्षिक योग्यता और अन्य प्रमाण पत्रों / दस्तावेजों का सत्यापन शामिल होगा, जिसमें एक उपक्रम भी शामिल है।
शिक्षक ग्रेड-3 किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / संस्थान से स्नातक की आवश्यक योग्यता प्राप्त करने और इस संबंध में आवश्यक दस्तावेजों / प्रशंसापत्र के उत्पादन पर शिक्षक ग्रेड- 2 के रूप में परिवर्तन/ नियुक्ति के लिए पात्र होगा। इस घटना में, वह मापदंड पूरा नहीं करता है, उसका नियमितीकरण उस तारीख से प्रभावी होगा, जब वह मानदंडों को पूरा करता है और आवश्यक दस्तावेज तैयार करता है। 07.12.2018 के एसएसी निर्णय द्वारा संक्रमण ध् नियुक्तियों को नियंत्रित किया जाएगा।
टीचर्स ग्रेड- 3 ’की सेवा शर्तें जनरल लाइन टीचर्स के समान ही होंगी, लेकिन इसके निर्वाह तक यह एक अलग कैडर बनी रहेगी। शिक्षक ग्रेड-3 के कैडर को शिक्षक ग्रेड- 2 के रूप में परिवर्तन/ नियुक्ति पर शिक्षक ग्रेड- 2 या शिक्षक ग्रेड- 2 के अधिनिर्णय/ त्याग/ निधन पर शिक्षक ग्रेड- 2 में विलय / निर्वाह / बहाल किया जाएगा।
एक शिक्षक ग्रेड- 3 को 6ठें वेतन आयोग के अनुसार 30 अगस्त, 2018 तक और 7 सितंबर से 7 वें वेतन आयोग के अनुसार वेतन / ग्रेड के हकदार होंगे। शिक्षक ग्रेड- 3 के पद गैर-हस्तांतरणीय होंगे । हालाँकि, स्कूल ग्रेड शिक्षा विभाग द्वारा प्रत्येक मामले के आधार पर और मामले के आधार पर शिक्षक ग्रेड- 3 (आरआरईटी से आरआरईटी) के पारस्परिक हस्तांतरण के अनुरोधों पर विचार किया जाएगा।
स्कूल शिक्षा विभाग ऐसे त्त्मज्े को प्रोत्साहित करेगा, जिनके पास प्रशासनिक विभाग की पूर्व अनुमति के साथ एक विशिष्ट समय सीमा के भीतर नियमित या दूरस्थ मोड के माध्यम से समान अर्हता प्राप्त करने के लिए अपेक्षित योग्यता (स्नातक) नहीं है।
स्कूल शिक्षा विभाग नए भर्ती किए गए शिक्षक ग्रेड- 3 के लिए एक उपयुक्त अवधि / मानक का अनिवार्य प्रशिक्षण मॉड्यूल तैयार करेगा जो छह महीने के भीतर पूरा हो जाएगा।
संख्या 4874


Photo Gallery

Cricket Today

Weather Today