JammuKashmir

राज्यपाल ने जइीएमसी बारामूला का उद्घाटन किया Newsखबर. Dated: 8/1/2019 11:30:32 PM | No. of Hits 117




राज्यपाल ने जइीएमसी बारामूला का उद्घाटन किया
यह समावेशी स्वास्थ्य देखभाल की ओर एक मील का पत्थर है
बारामूला, 01 अगस्त 2019- राज्यपाल सत्य पाल मलिक ने आज जम्मू-कश्मीर में एक बेहतर और सस्ती स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली प्रदान करने की सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई और कहा कि राज्य के हर नुक्कड़ और कोनों में स्वास्थ्य सेवा संस्थानों को मजबूत करने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने सरकारी मेडिकल कॉलेज बारामूला के उद्घाटन के बाद ये बातें कही।
जीएमसी बारामूला को 189 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत पर मंजूरी दी गई है, जिसमें लगभग 100 एमबीबीएस छात्रों का एक बैच अपने 1 शैक्षणिक सत्र के दौरान अपनी चिकित्सा शिक्षा का हासिल करेंगे।
राज्यपाल के सलाहकार के विजय कुमार, के के शर्मा और के स्कंदन, संासद मोहम्मद अकबर लोन, मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रह्मण्यम, राज्यपाल के वित्तीय आयुक्त उमंग नरुला, वित्तीय आयुक्त स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा अटल डुलू,, डॉ जी एन इटू, जिला विकास आयुक्त बारामूला; प्रिंसिपल जीएमसी, नागरिक और पुलिस प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उद्घाटन समारोह में उपस्थित थे।
बारामूला जिले के स्वास्थ्य सुविधाओं के बुनियादी ढांचे की दिशा में कॉलेज के उद्घाटन को एक मील का पत्थर बताते हुए, राज्यपाल ने कहा कि उनके प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य सेवा के सभी स्तरों पर एक समावेशी और मजबूत स्वास्थ्य सेवा वितरण प्रणाली बनाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने नए नामांकित एमबीबीएस छात्रों को हार्दिक बधाई दी और उन्हें प्रवेश पत्र सौंपे।
हाल के महत्वाकांक्षी “गांव की ओर“ कार्यक्रम, अपनी तरह का पहला, और सार्वजनिक जन पंहुच का एक प्रभावी और अभिनव उपाय, के सफल शुभारंभ का हवाला देते हुए, राज्यपाल ने कहा कि एक कुशल सार्वजनिक शिकायत निवारण तंत्र उनके प्रशासन की आधारशिला रहा है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम को लोगों के दरवाजे पर शासन के विभिन्न पहलुओं को वितरित करने के अलावा जमीनी स्तर पर जनता की प्रतिक्रिया के विशेष उद्देश्य के साथ शुरू किया गया था। उन्होंने कहा कि जनता की शिकायतों को दर्ज करने के लिए सरकार की शिकायत प्रकोष्ठ भी स्थापित किया गया है और उनके प्रशासन द्वारा समयबद्ध तरीके से इनका निवारण करने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं।
सांसद लोन ने अपने संबोधन में स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत करने में राज्यपाल के प्रशासन की भूमिका की सराहना की और आशा व्यक्त की कि वर्तमान प्रशासन इस दिशा में काम करना जारी रखेगा।
सलाहकार विजय कुमार ने सामान्य रूप से राज्य में और विशेष रूप से जिले में चिकित्सा शिक्षा की स्थिति में सुधार लाने के लिए कॉलेज के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने छात्राओं को सशक्त बनाने के लिए उनकी शिक्षा को महत्वपूर्ण बनाने के अलावा कड़ी मेहनत करने पर जोर दिया।
सलाहकार के के शर्मा ने अपने भाषण में स्वास्थ्य क्षेत्र की बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं को देने के प्रयासों की सराहना की और इसे और अधिक प्रभावी बनाने में हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया।
सलाहकार के स्कंदन ने गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने पर जोर दिया और कहा कि कॉलेज में एक कुशल शिक्षण संकाय प्रदान किया जाएगा।
मुख्य सचिव ने स्वास्थ्य क्षेत्र में राज्य द्वारा दर्ज उपलब्धियों की सूची को दोहराया और कहा कि जम्मू-कश्मीर ने आयुष्मान भारत कार्यक्रम के प्रदर्शन में शीर्ष स्थान हासिल किया है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवा और अन्य सार्वजनिक सेवाओं को अधिक व्यवहार्य और प्रभावी बनाने के लिए कई पहल की जा रही हैं।
इस अवसर पर हिप्पोक्रेटिक शपथ समारोह भी आयोजित किया गया, जिसके दौरान छात्रों ने समाज के बड़े हित के लिए समर्पण के साथ काम करने का संकल्प लिया।
छात्रों द्वारा विभिन्न रंगारंग सांस्कृतिक आइटम प्रस्तुत किए गए, जिन्होंने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

Photo Gallery

Cricket Today

Weather Today